पंकज द्विवेदी  निर्धन बच्चों की आवाज पहुंचाई सरकार तक।

पंकज द्विवेदी निर्धन बच्चों की आवाज पहुंचाई सरकार तक।

0 0

देश के बच्चों का भविष्य उज्जवल बनानें के लिए सरकार द्वारा निरंतर प्रयास किया जा रहा है, ताकि देश में सभी लोग साक्षर बन सके| सभी स्कूलों में शिक्षा का स्तर सुधारनें के लिए विभिन्न प्रकार से प्रयास किया जा रहा है| सरकार द्वारा गांव, शहर और कस्बों में कई प्राथमिक स्कूल खोले गए हैं, जिन्हें उच्च स्तर का बनाने के लिए सरकार द्वारा निरंतर प्रयास जारी है, इतने प्रयसो के बावजूद भी अभी कई ऐसी जगह है, जहां सरकार की नजर नहीं पहुंच रही है। अभी भी हमारे देश में बहुत से बच्चे पढ़ाई की अच्छी सुविधाए न मिलनें के कारण शिक्षा प्राप्त करनें से वंचित रह जाते है, उनके आसपास कोई सही स्कूल नहीं है, और वह दूर जाने में सक्षम नहीं हैं। कई ऐसे स्थान है, जहाँ हजारों की संख्या में लोग रहते हैं,परन्तु उनकी समस्याए सरकार तक नहीं पहुंच रही है|

ऐसा ही एक मामला राजधानी लखनऊ में पिछले दिनों संज्ञान में आया है। राजधानी लखनऊ के थाना ठाकुरगंज क्षेत्र स्थित मिश्री की बगिया है, जो एक घनी बस्ती है। वहां पर सरकारी प्राथमिक स्कूल के नाम पर बस एक 25X15 का कमरा बना हुआ है। जो डूडा का है, और नन्हे-मुन्ने बच्चे वहां पढ़ने के लिए मजबूर है| विद्यालय के पास गंदा नाला बना हुआ है, जिसके कारण हमेशा बदबू आती रहती है, बच्चो को पानी पीने की व्यवस्था और टॉयलेट की भी कोई व्यवस्था नहीं। इस स्कूल में लगभग 150 बच्चे पढ़ते हैं, परंतु बैठने की जगह न होने के कारण बहुत से बच्चे स्कूल आना पसंद नहीं करते, और सरकार का इस तरफ कोई ध्यान भी नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.